Connect with us

न्यूज और गॉसिप

Fake Follower घोटाला, 176 सेलेब्स में दीपिका और प्रियंका की भी जांच

Published

on

Film प्रचार

दो अभिनेत्रियों के 48 फीसदी इंस्टाग्राम फॉलोअर हैं फर्जी

फिल्म प्रचार डेस्क

अपने ट्विटर, इंस्टाग्राम और फेसबुक अकाउंट्स पर लाखों फॉलोअर दिखाने वाले बॉलीवुड, संगीत और मनोरंजन जगत के सेलेब्रिटियों का झूठ पकड़ में आ गया है। सोशल मीडिया पर फर्जी अकांउट के मामले की जांच कर रही मुंबई पुलिस के हाथ एक बड़ा रहस्य लगा है। जिसके मुताबिक तमाम सेलेब्रिटी सोशल मीडिया में अपनी लोकप्रियता और फैन फॉलोइंग की ताकत दिखाने के लिए सैकड़ों डॉलर में रकम चुका कर न केवल फर्जी फॉलोअर खरीदते हैं, बल्कि अपनी पोस्ट को लाइक और कमेंट कराने के लिए भी डॉलर खर्च करते हैं। एक तरह से यह लोगों को धोखा देने, छलने और चारसौबीसी करने का है। पुलिस फेक फॉलोअर्स के इस मामले को अंतरराष्ट्रीय रैकेट का हिस्सा मानने से भी इंकार नहीं कर रही।

मीडिया में आ रही खबरों के अनुसार पुलिस ने अपनी जांच में बॉलीवुड, संगीत तथा मनोरंजन जगत के ऐसे 176 सेलेब्रिटियों की सूची बनाई है, जिन्होंन विभिन्न वेबसाइटों के माध्यम से बड़ी संख्या में Fake Follower बनाए हैं। बताया जाता है कि इनमें से ज्यादातर सेलेब्रिटी बी ग्रेड हैं मगर बॉलीवुड की दिग्गज अभिनेत्रियों दीपिका पादुकोण और प्रियंका चोपड़ा का नाम सूची में आना चौंका रहा है। मीडिया में आ रही खबरें बता रही हैं कि फेक फॉलोअर हासिल करने वाली अभिनेत्रियों में ये दोनों शामिल हो सकती हैं। हालांकि इस लिस्ट में कई ऐसे नाम हैं, जो सामने आएंगे तो चकित करेंगे। पुलिस दीपिका-प्रियंका समेत इनमें से कई सेलेब्रिटियों को पूछताछ के लिए बुला सकती है। मीडिया में आ रहे एक अध्ययन के आधार पर अनुमान लगाए जा रहे हैं कि इन अभिनेत्रियों के सोशल मीडिया में करीब 48 फीसदी फॉलोअर फेक यानी नकली/फर्जी हो सकते हैं। फेक फॉलोअर के घोटाले का यह देश में अपनी किस्म का पहला मामला है। मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच और साइबर सेल की जांच में ऐसी 74 कंपनियों/फर्मों का पता चला है, जो सेलेब्रिटियों को सोशल मीडिया में फर्जी फॉलोअर दिलाने का काम करती रही है।

 ऐसे खुला मामला

बीती 11 जुलाई को बॉलीवुड सिंगर भूमि त्रिवेदी ने मुंबई पुलिस में शिकायत की थी कि कोई उनके नाम का फेक अकाउंट सोशल मीडिया में चला रहा है। उन्होंने बताया था उनका इंस्टाग्राम पर नकली अकाउंट बना कर उनके नाम से बातें और तस्वीरें डाली जाती हैं, जिससे कि फॉलोअरों की संख्या बढ़ाई जा सके।

 क्यों हैं जुर्म

फेक फॉलोअर बनाने वाले सेलेब्रिटी अपने को बहुत मजबूत तथा लोकप्रिय बताते हुए कंपनियों से कहते हैं कि उनकी फैन फॉलोइंग जबर्दस्त है। इसलिए वह इंस्टाग्राम या ट्विटर पर किसी उत्पाद या जानकारी को पोस्ट करने के लिए भारी रकम वसूलते हैं। इस तरह यह धोखाधड़ी का मामला बनता है। पिछले कुछ वर्षों में कई सेलेब्रिटीज ने इंस्टाग्राम-ट्विटर पर किसी दूसरे की जानकारी को पोस्ट करने का धंधा बना लिया है। एक पोस्ट के लिए वे लोग लाखों-करोड़ों रुपये वसूल रहे हैं।

यूं बनते हैं फेक फॉलोअर

पुलिस की शुरुआती जांच में पता चला है कि फेक फॉलोअर दो तरह से बनते हैं। एक तो इन्हें वेबसाइटों पर लोग खुद अपने प्रयासों से बनाते और संचालित करते हैं। दूसरा फेक फॉलोअर बनाने के कुछ अवैध सॉफ्टवेयर भी विकसित कर लिए गए हैं। इन वेबसाइटों तथा सॉफ्टवेयर वालों के फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, हाल में बंद हुए टिकटॉक पर फर्जी फॉलोअर बढ़ाने के अलग-अलग रेटकार्ड हैं। भूमि त्रिवेदी के मामले की जांच करते हुए पुलिस को फ्रांस की एक वेबसाइट followerskart.in भी मिली। विदेश मंत्रालय के माध्यम से पुलिस इस साइट की विस्तृत जानकारी मंगाने का प्रयास कर रही है। ऐसी ही एक और वेबसाइट www.amvsmm.com भी सामने आई है। बीते बुधवार को पुलिस ने मुंबई के जोगेश्वरी में एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर को गिरफ्तार किया, जो अपनी वेबसाइट से फेक फॉलोअर बनाता था।


Film प्रचार