Connect with us

न्यूज और गॉसिप

उखाड़ दिया के साइड इफेक्ट्सॽ UP में बसेगा नया बॉलीवुड, फिल्म सिटी बनेगी

Published

on

Film प्रचार

फिल्म जगत की हस्तियों ने किया स्वागत, कहा योगी हैं तो यकीन है

फिल्म प्रचार डेस्क

जो बात निकली थी, वह दूर तलक जाती दिख रही है। ऐक्टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद बॉलीवुड के साथ शुरू हुई राजनीतिक रस्साकशी के साइड इफेक्ट्स अब साफ नजर आने लगे हैं। कुछ दिनों पहले ही उत्तर प्रदेश में फिल्म सिटी बनाने की मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की घोषणा पर रफ्तार से काम शुरू हो गया है। मुंबई के समानांतर उत्तर प्रदेश को फिल्म हब बनाने पर तेजी से काम हो रहा है। सब कुछ इस तरह चला तो मुंबई की फिल्म इंडस्ट्री के बराबर यूपी में एक फिल्म उद्योग दशक भर में खड़ा नजर आएगा। बीते कई दशक से यूपी समेत उत्तर भारत के लोग अपने सिनेमाई-सपने सच करने के लिए स्ट्रगलर बनकर मुंबई आते रहे हैं। संभव है कि आने वाले दशकों में यह अतीत की बात हो जाए।

आने वाली पीढ़ियों के सपने साकार करने के लिए कटिबद्ध योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में अनेक जानी-मानी फिल्मी हस्तियों से बातचीत की। उनके सुझाव लिए। मुख्यमंत्री ने गौतम बुद्ध नगर में यमुना एक्सप्रेसवे इंडस्ट्रीयल डेवलपमेंट अथॉरिटी से लगी एक हजार एकड़ भूमि में फिल्म सिटी बनाने की महत्वाकांक्षी योजना की घोषणा भी की। उन्होंने कहा कि यहां विश्वस्तरीय तकनीकी सुविधाओं के साथ 50 साल आगे की सोच रखते हुए फिल्मसिटी का निर्माण किया जाएगा। यह भारत को अंतरराष्ट्रीय फिल्म मानचित्र पर मजबूती से जमा देगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि यह फिल्मसिटी कई मायनों में बहुत अहम होगी क्योंकि यहां से नई दिल्ली और एशिया के सबसे बड़े प्रस्तावित जवार इंटरनेशनल एयरपोर्ट की दूरी बमुश्किल एक घंटे की होगी। यहां से आगरा का ताजमहल और भगवान श्रीकृष्ण की नगरी मथुरा भी नजदीक हैं। योगी ने फिल्मी हस्तियों के साथ लंबी मुलाकात की और उनके विचार भी जाने। उन्होंने कहा कि यह सही समय पर उठाया जा रहा एक सही कदम है। फिल्मी हस्तियों ने योगी की इस पहल का जमकर स्वागत किया और कहा कि योगी हैं तो यकीन है। जानिए किसने क्या कहा…

– अनुपम खेर,अभिनेताः योगी जी की क्षमता पर सभी को भरोसा है। यूपी की फिल्म सिटी ताजमहल की तरह ही दुनिया भर को आकर्षित करने वाली हो। इसकी स्थापना की पहली बैठक में आमंत्रित कर योगी जी ने हमें इतिहास में दर्ज कर दिया।

– परेश रावल, चेयरमैन नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामाः बहुत स्वागतयोग्य कदम। योगी जी यह स्वप्न पूरा भी करेंगे, मुझे विश्वास है। फिल्मसिटी का निर्माण मुख्य धारा के सिनेमा के साथ रीजनल सिनेमा को भी पुनर्जीवन देने वाला आयाम सिद्ध होगा।

– राजू श्रीवास्तव, अध्यक्ष उत्तर प्रदेश फिल्म बंधुः फिल्मसिटी की परिकल्पना छोटे-छोटे शहरों की अद्भुत प्रतिभाओं के हौसलों, सपनों को पंख देने वाली होगी। मैं हर समय, पूरी क्षमता के साथ सेवा के लिए प्रस्तुत रहूंगा।

– मनोज जोशी, अभिनेता: यह फिल्म सिटी भारतीय भाषाओं के फिल्मोद्योग का महाद्वार होगी। आज ओटीटी प्लेटफार्म पर हिंदी पट्टी की कहानियां छाई हैं। 70 फीसदी टेक्नीशियन यूपी से हैं। सभी को आत्मनिर्भर बनाने में यह नवीन फिल्म सिटी अत्यंत उपयोगी हो सकती है।

– अनूप जलोटा, गायक: बहुत अभिनंदनीय प्रयास है। इसके लिए पूरी दुनिया की फिल्म सिटीज का अध्ययन किया जाना चाहिए। उनकी खूबियों, कमियों को समझना चाहिए। आवश्यकताओं के लिहाज से सुविधाएं दी जाएं।

– कैलाश खेर, गायक: योगी स्वयं नेतृत्व कर रहे हैं, तो कोई कार्य असाध्य नहीं। उत्तर प्रदेश देवताओं की पुण्य भूमि है। योगी जी की फिल्मसिटी भारतीय संस्कृति को पोषित करने वाली हो। कला साधकों को सम्मान मिले। ऐसा होगा, मेरा विश्वास है।

– सतीश कौशिक, निर्माता निर्देशक: योगी जी फिल्म जगत को नवीन विकल्प दे रहे हैं। आज जो प्रेजेंटेशन दिखाया गया, वह हमें एक बेहतर भविष्य की छवि दिखा गया। यूपी की संस्कृति ने फिल्मों को शुरू से प्रभावित किया है। यहां की फिल्म सिटी पूरी दुनिया को प्रभावित करेगी।

– उदित नारायण, पार्श्व गायक: मैं 40 साल फिल्म जगत का हिस्सा रहा हूं। योगी जी के इस बड़े सपने को साकार करने में अगर मैं भी कुछ योगदान कर सका तो जीवन को धन्य समझूंगा।

– विनोद बच्चन, फिल्म निर्माता: यूपी में फिल्मसिटी का सपना दशकों से है। आज यह पूरा होना तय है। मैंने अपनी फिल्मों में हमेशा यूपी को रिप्रेजेंट किया। बस इस सपने को यूपी बनाम महाराष्ट्र न बनने दिया जाए। फिल्म स्क्रीनों की प्रदेश में कमी है। योगी जी छोटे-छोटे कस्बों तक फिल्में पहुंचाने में मदद करें। महत्वपूर्ण यह भी है कि अच्छे सिनेमा को ही प्रोत्साहित किया जाए।

– अशोक पंडित: अध्यक्ष फिल्म निर्देशक संघ: फिल्मसिटी के निर्माण में फिल्म जगत के लोगों को शामिल करने की सोच योगी जी की सकारात्मकता का प्रतीक है। इनका इनवॉल्वमेन्ट, इस प्रोजेक्ट के सफल होने की गारंटी है। योगी जी के विजन बियांड द ग्लोब रहा है। फिल्मसिटी भी इसी विचार का प्रतिबिंब होगी।

– नितिन देसाई, कला निर्देशक: फिल्में लाखों लोगों को रोजगार, अरबों का व्यापार, हुनर और हौसलों को सलाम है। यूपी का प्रस्ताव इंटरनेशनल फिल्म जगत को आकर्षित करेगा। यूपी धर्म, संस्कृति, कला का अद्भुत संगम है। फिल्मसिटी यूपी इसे और समृद्ध करेगी।


Film प्रचार